HomeFestivalInformation about Easter in Hindi - ईस्टर का त्योहार क्यों मनाते हैं?

Information about Easter in Hindi – ईस्टर का त्योहार क्यों मनाते हैं?

नमश्कार दोस्तों, आज हम इसाई धर्म के सबसे बड़े त्योहार “Easter in Hindi” के बारे में जानेंगे. तो चलिए पढना शुरू करते हैं-

इस लेख को शुरू करने से पहले मै आपको बता दूं कि इसाई धर्म (christain) के इश्वर का नाम यशु या फिर ईशा मसीह हैं. ईस्टर(Easter) का त्योहार इसाई धर्म के लोगो के लिए सबसे खास पर्व है.

Information about Easter in Hindi – ईस्टर का महत्व

ईसाई धर्म के बाइबिल के अनुसार, माना जाता है कि जब रोमनो द्वारा ईशा को सूली पर लटकाया गया था तो उसके तीसरे दिन वह पुनर्जीवित हो गये थे. उसी दिन से इस मृतोत्थान को ईसाई ईस्टर दिवस (Easter festival) और ईस्टर सन्डे (Easter sunday) के नाम से मनातें आ रहे हैं.

वही कुछ लोग इस त्यौहार को मृतोत्थान दिवस और मृतोत्थान रविवार भी कहते हैं. दोस्तों यही वजह है की ईस्टर का पर्व, यूनानी (ईसाई) पूजन-वर्ष का सबसे महत्वपूर्ण और धर्मिक पर्व व उत्सव माना जाता है.

ईस्टर का त्योहार क्यों मनाते हैं? इस सवाल का जवाब तो हमे मिल गया. चलिए अब जान लेते हैं कि ईस्टर कब मनाया जाता है?

यह फेस्टिवल गुड फ्राइडे के 2 दिन बाद और पुन्य बृहस्पतिवार या मौण्डी थर्सडे के 3 तीन बाद ईस्टर मनाया जाता है.

Easter 2017 में – 16 अप्रैल को था.

यीशु की मृत्यु 26 और 36 ई.प. के बीच में हुई थी. उनके जन्म दिवस के तौर पर इसाई धर्म क्रिसमस के त्यौहार मनाते हैं और उनके मृत्यु दिवस को ईस्टर के रूप में मनाते हैं.

easter images - easter in hindi
easter images – easter in hindi

ईस्टर काल क्या है और यह कितने दिन का होता है?

अलग-अलग जगह में यशु की मृत्यु और उनके जी उठने के कालक्रम को अनेकों और भिन्न-भिन्न प्रकार से बताया जाता है. जैसे की चर्च के वर्ष का काल, द ईस्टर सीज़न अथवा ईस्टर काल.

ईस्टर का जो काल होता है वो परंपरागत चालीस दिनों का होता है. ये पर्व ईस्टर दिवस से होकर स्वर्गारोहण दिवस तक होता आया है. परन्तु अब यह फेस्टिवल आधिकारिक तौर पर पंचाशती तक पचास (50) दिनों का होता है.

ज़रूर पढ़े – ईसा या यीशु मसीह या जीज़स क्राइस्ट की जीवनी

ईस्टर सीज़न और ईस्टर काल का जो पहला सप्ताह होता है उसको ईस्टर सप्ताह या ईस्टर अष्टक या ओक्टेव ऑफ़ ईस्टर भी कहते हैं. इस पवित्र काल को प्रायश्चित, प्रार्थना और उपवास करने के लिए भी माना जाता है.

ईस्टर का त्योहार एक गतिशील त्यौहार है, जिसका अर्थ है (Easter meaning) की ये नागरिक कैलेंडर के अनुसार नही चलता हैं.

अब सवाल उठता है की ईस्टर का त्योहार किस दिन मनाया जाता है, इसका दिन कैसे निश्चित हुआ?

March, April Easter Date Calculation?

ईस्टर का त्योहार मनाने के लिए कोई भी तिथि फिक्स नहीं है, जब (325) में नाईसीया की पहली सभा हुई थी तब ईस्टर की तिथि का निर्धारण पूर्णिमा और वसंत विषुव के बाद आने वाले प्रथम रविवार (First Sunday) के रूप में किया गया.

गिरिजाघर के अनुसार, गणना के आधार पर विषुव की तारिक 21 मार्च है. इसलिए ईस्टर की डेट 22 मार्च से 25 अप्रैल के बीच बदलती रहती है.

Easter 2018 date – 1  April

पर जितने भी पूर्वी ईसाइयत है उनकी गणना जूलियन कैलेंडर पर आधारित की है, इस कैलेंडर के अनुसार 21 मार्च की तिथि इक्कीसवी सदी के दौरान ग्रीगोरियन कैलेंडर के 3 अप्रैल के दिन पड़ती है.

जूलियन कैलेंडर के अनुसार ईस्टर के त्योहार व पर्व व उत्सव 4 अप्रैल से 8 मई के बीच में पड़ता है.

ईस्टर डेट सिर्फ संकेतों के प्रयोग के आधार पर ही नही बल्कि कैलेंडर में अपनी स्थिति के अनुसार भी यहूदी पास्का या यहूदी ईस्टर से सम्बंधित हैं.

ईस्टर को ईसाई समुदाय के लोगो के अलावा गैर-ईसाई लोग भी इस पवित्र त्यौहार को बहुत ही ख़ुशी और सामान रूप से मनाते हैं. परन्तु कुछ ईसाई वर्ग के लोग ऐसे भी है जो ईस्टर नही मनाते हैं.

Easter Egg Meaning in Hindi – ईस्टर अंडे का महत्व (Easter Festival in Hindi)

सर्वप्रथम रूप से कुछ नयी चीजें जैसे की ईस्टर बनी (Easter bunny) अथवा ईस्टर एग्ग हंट्स (Easter eggs hunts) छुट्टियों में भी इसका बहुत बड़ा महत्व रहता है.

Easter Egg Meaning in Hindi
Easter Egg Meaning in Hindi – Easter in Hindi

ईस्टर के अंडे आम तौर पर, ईसाई धर्म में उपजाऊपन(fertility) और पुनर्जन्म(rebirth) का एक पारंपरिक प्रतीक थे, हालांकि, ईस्टर अंडे यीशु की खाली कब्र का प्रतीक है, जिसमें से यीशु ने पुनरुत्थान किया था.

ईस्टर अंडे ईस्टरटाइड (ईस्टर सीजन) के मौसम के दौरान बिलकुल आम हैं, पुरानी परंपरा के अनुसार चिकन अंडे को रंग से पेंट कर गिफ्ट के तौर पर इस्तेमाल किया जाता था.

लेकिन अब आधुनिक(modern) प्रथा है कि चॉकलेट अंडे को रंगीन पन्नी में लपेटा जाए, या चॉकलेट जैसे कन्फेक्शनरी से भरा प्लास्टिक के अंडे को गिफ्ट के तौर पर इस्तेमाल करते हैं.

दोस्तों यह थी थोड़ी बहुत जानकरी Easter festival के बारे में, अगर आपको Easter in hindi के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करनी है तो आप Wikipedia (विकिपीडिया) पर जाकर इसके बारे में और अधिक जानकरी प्राप्त कर सकते हो.

Easter history के उपर ऐसी कोई बात जो आप जानते हो और उसको आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हो तो आप कमेंट के माध्यम से हमारे साथ और बाकि सभी रीडर के साथ शेयर कर सकते हो.

दोस्तों आप इस Easter in Hindi के लेख को जितना हो सके फेसबुक, ट्विटर, गूगल+ और व्हाट्सएप्प के माध्यम से पर शेयर करे. आपको शिखा भट्ट की ओर से ईस्टर की हार्दिक शुभकामनायें.

Shikha Bhatthttp://www.shikhabhatt.info
Hello Viewers, this is Shikha Bhatt. I am an Entrepreneur and an internet marketer, In this site you will get many beauty tips and health tips and much more. For more information you guys can visit ABOUT ME page of this website. Thank You for Visiting here.
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments